SpecialFile4u.com

इस गांव में महिलाएं पुरूष बिना कपड़ों के रहते हैं मतलब नंगे ही रहते है।

women without cloth

क्या कभी आपने सुना है कि एक ऐसी जगह, जहां पर लोग बिना कपड़ों के रहते है और इतना ही नही पूरा गांव ही नंगा रहता है, खाता है, पीता है, सोता है और आराम से घुमता भी है !! सुनकर हैरान रह गए ना ! लेकिन यह सत्य है, वैसे आज तक हमने सिर्फ अजीबोगरीब जगहों के बारें में ही बताया है लेकिन आज हम आपको इस गांव के अजीबोगरीब लोगो के बारें में बताते है जो पूरी तरह से नंगे रहते है।

जी हाँ, आपने सही सुना, यहाँ के लोग मॉडर्न लाइफ के हिसाब से लाइफ जीते हैं वो भी बिना कपड़ों के । इससे ज्यादा मॉडर्न तरीका और क्या होगा । ये सिलसिला पिछले 85 सालों से लोग निर्वस्त्र ही रह रहे हैं । यहाँ रहने वालों के साथ साथ जो बाहर से आते हैं वो बिना कपड़ो के ही रहते हैं । इसमें यही खास बात है कि कुछ दिनों की छुट्टियां मनाने यहाँ लोग दूर-दूर से आते हैं और वो भी बिना कपड़ों के ही रहते हैं ।

12 मार्च को विश्व के अनेक शहरों में वर्ल्ड नेकेड साइकिल राइडिग का आयोजन किया गया जिसमें भारी संख्या में लोगों ने पूर्ण रूप से नग्न हो कर इस समारोह में शामिल हुए। यह समारोह हेल्दी ह्यूमन बॉडी के लिये आयोजित की गयी। इस समारोह का आयोजन करने का उद्देश्य लोगों अपनी सफाई और स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है। लोगों से विश्व को सकारात्मक शरीर रखने के लिये प्रोत्साहित किया जाता है। जापान के टोक्यो में एक ऑनसेन नाम का समारोह आयोजित किया जाता है। यहां के लोग न्यूड हो कर स्वच्छंद विचरण करते हैं। यह माना जाता है कि इससे लोगों के शरीर को नेचुरल व पॉजिटिव इनर्जी मिलती है। जापान के ऑनसेन में प्राकृतिक खनिज प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं।

इंडोनेसिया के बाली स्थित अयाना रिजार्ट में न्यूड हो कर स्पा लेने की सुविधा उपलब्ध है। लोगों का मानना है कि यहां की परंपरा के अनुसार स्पा लेने से लोगों में नयी ऊर्जा और उमंग आ जाती है। यहां आने वाले लोगों को स्पा लेने की चाहत रहती है। न्यूड सौना बाथ लेने के लिये लोग फिनलैंड के हेलसिंकी स्थित कोटिहारजुन में नग्न हो कर सौना बाथ लेने की होड़ रहती है। हेलसिंकी के इस सौना बाथ सेंटर में आने वाले लोग पूरी तरह से नग्नावस्था में देखा जाता है। यहां लोग एक दूसरे को मसाज देते हुए भी देखे जाते हैं।

इस दुनिया में कितने ही देश है। लगभग सभी देशों का अपना कल्चर और रीति-रिवाज हैं। उनके रहन-सहन और खान-पान में भी भिन्नताएं देखने को मिलती हैं। अक्सर हम लोगों का पहनावा देख कर उसकी जाति, धर्म और देश का अंदाजा लगा लेते हैं। और इसी तरह की अजीब कल्चर को वर्षो से संजोएं हुए है ब्रिटेन का स्पीलप्लाट्ज गांव !

दरअसल, ब्रिटेन के हर्टफोर्डशायर के ब्रिकेटवुड में दूर स्थित एक छोटा सा गांव है। यहां रहने वाले बच्चे, महिलाएं पुरूष सभी बिना कपड़ों के रहते है मतलब नंगे ही रहते है। और तो और ये सभी पूरी तरह से मॉडर्न लाइफ-स्टाइल के साथ जीवन जीते है। लेकिन इनके पीछें भी एक खास कारण है जिस वजह से ये लोग नंगे रहते है।

यहां के लोग पिछले 85 वर्षो से निर्वस्त्र ही रहते हैं। दरअसल, इस गांव के बारे में बहुत से लोगों को अब भी जानकारी नहीं है, इस गांव को 1929 में इसुल्ट रिचर्डसन ने खोजा था, तब लोगों ने फैसला किया की वो प्रकृति के नजदीक और बिल्कुल प्राकृतिक रूप से जिएंगे और तब से यहां के लोग आराम से ऐसे ही निर्वस्त्र रहते हैं।

इस गांव में कई पर्यटक आते और जाते है यहां पर्यटको के लिए किराए पर घर भी उपलब्ध रहते है। और पर्यटक छुटिटयां मनाने के लिए यहा आते है। लेकिन यहां आने वाले पर्यटको को भी निर्वस्त्र ही रहना पडता है। लेकिन पर्यटकों को इस बात का ध्यान रखना होता है कि वह उस गांव के नियमों के अनुसार ही रहे।

women without cloth

हालांकि ऐसा नही है कि यहां सर्दियों के दिनों में भी लोगो को निर्वस्त्र ही रहना पडता है। यहां के लोगों को ठंड में कपड़े पहनने की आजादी है। ठंड लगने पर या फिर कपड़े पहनने की इच्छा होने पर यहां लोग कपड़े पहन सकते हैं। ये लोग सभी आपस में काफी घुले मिले रहते है।
और पढ़े – दुनिया के 10 सबसे अजीबोगरीब फैशन ट्रेंड्स

यहां इन लोगों का अपना पब है, स्विमिंग पूल, बंगले और खाने-पीने की हर व्यवस्था है। यहां हर छोटी से छोटी आवश्कता की चीजें उपलब्ध है और लोग खुले आम निवस्त्र होकर ही घुमते है। यहां सभी एक माॅडर्न लाइफ स्टाइल से जीवन बिताते है। और इनके रहन-सहन को देखकर लगता है कि ये लोग काफी हाई प्रोफाइल और उंचे ख्यालों के है।

इस गांव के लोगो की नंगे रहना इतना ज्यादा अच्छा लगता है कि ये अपने गांव को छोडकर कही नही जाते है। हालांकि कई बार शहरों से किसी सामान की आवश्यकता रहती है तभी यहां के लोग कपडें पहनकर शहर जाते है और अपने लिए उचित सामान लेकर आते है। इसके अलावा वे कभी भी कपडों को छुते भी नही है।

प्रकृति के नजदीक और बिल्कुल प्राकृतिक रूप से जिन्दगी जीने के लिए इन लोगो ने यह तरीका अपनाया है। शुरू में कई लोगो और सामाजिक संस्थाओं ने इस गांव के लोगो का विरोध किया था। लेकिन सभी को स्वतंत्रता के साथ जीने का अधिकार है तो उसी कारण विरोध बंद हो गया और लोग निवस्त्र होकर जिंदगी जीते है।

सबसे ज्यादा हैरानी की बात तो ये है कि, यहां पर आने वाले पर्यटकों को भी इस बात का ध्यान रखना होता है कि वह उस गांव के नियमों के अनुसार ही काम करें । आपको बता दें कि यहां पर लोग ठंड में भी कपडे नहीं पहनते हैं ।